इंग्लैंड के हेनरी अष्टम्

हेनरी VIII
इंग्लैंड के राजा (और...)
शासनकाल21 अप्रैल 1509 – 28 जनवरी 1547 (&0000001191996000.00000037 वर्ष, 282 दिन)
राज्याभिषेक24 जून 1509 (उम्र 17)
पूर्वाधिकारीहेनरी सप्तम
उत्तराधिकारीएडवर्ड षष्टम
Spouseएरागॉन की कैथरीन
ऐने बोलेन
जेन सेमोर
क्लीव्स की ऐने
कैथरीन हॉर्वर्ड
कैथरीन पार
संताने
रानी मैरी
हेनरी फित्ज़रॉए
एलिज़ाबेथ प्रथम
राजा एडवर्ड
राजघरानाट्यूडर राजघराना
पिताहेनरी सप्तम
मातायॉर्क की एलिज़ाबेथ
कब्रसेंट जॉर्ज का प्रार्थनाघर, विंडसर किला
हस्ताक्षर
धर्मइसाई (ऐंग्लिकन,
पहले रोमन कैथोलिक)

हेनरी अष्टम (28 जून 1491-28 जनवरी 1547) 21 अप्रैल 1509 से अपनी मृत्यु तक इंग्लैंड के राजा थे। वे लॉर्ड ऑफ आयरलैंड (बाद में किंग ऑफ आयरलैंड) तथा फ्रांस के साम्राज्य के दावेदार थे। हेनरी ट्यूडर राजघराने के दूसरे राजा थे, जो कि अपने पिता हेनरी सप्तम के बाद इस पद पर आसीन हुए।

अपने छः विवाहों के अलावा, हेनरी अष्टम चर्च ऑफ इंग्लैंड को रोमन कैथोलिक चर्च से पृथक करने में उनके द्वारा निभाई गई भूमिका के लिये भी जाने जाते हैं। रोम के साथ हेनरी के संघर्षों का परिणामस्वरूप पोप के प्रभुत्व से चर्च ऑफ इंग्लैंड का पृथक्करण हुआ और मठों का विघटन हो गया और उन्होंने स्वयं को चर्च ऑफ इंग्लैंड के सर्वोच्च प्रमुख (Supreme Head of the Church of England) के रूप में स्थापित कर लिया। उन्होंने धार्मिक आयोजनों व रस्मों को बदल दिया तथा मठों का दमन किया और साथ ही वे कैथलिक धर्मशास्त्र की मूल-शिक्षाओं के समर्थक बने रहे, यहां तक कि रोमन कैथलिक चर्च के साथ उनके निष्कासन के बाद भी।[1] वेल्स ऐक्ट्स (Wales Acts) 1535-1542 के कानूनों के साथ हेनरी ने इंग्लैंड और वेल्स के वैधानिक मिलन का निर्देशन किया।

अपनी युवावस्था में हेनरी एक आकर्षक और करिश्माई पुरुष थे, शिक्षित व परिपूर्ण.[2] वे एक लेखक व संगीतकार थे। उन्होंने पूर्ण शक्ति के साथ शासन किया। इंग्लैंड को एक नर उत्तराधिकारी प्रदान करने की उनकी इच्छा-जो आंशिक रूप से उनके व्यक्तिगत घमण्ड से और आंशिक रूप से उनके विश्वास से उत्पन्न हुई थी कि एक पुत्री ट्युडर राजवंश और रोज़ेज़ के युद्धों (Wars of Roses) के बाद मौजूद नाज़ुक शांति को मज़बूत नहीं बना सकेगी-का परिणाम उन दो बातों के रूप में मिला, जिनके लिये हेनरी को आज याद किया जाता है: उनकी पत्नियां और इंग्लैंड का पुनरुत्थान, जिसने इंग्लैंड को एक अधिकांशतः प्रोटेस्टंट राष्ट्र बना दिया। अपने जीवन के उत्तर-काल में वे रूग्ण रूप से स्थूलकाय हो गए और उनका स्वास्थ्य खराब हो गया; अक्सर उनकी सार्वजनिक छवि का चित्रण कामुक, अहंवादी, कर्कश और असुरक्षित राजाओं में से एक के रूप में किया जाता है।[3]

सुविदित रूप से हेनरी को उनकी छः पत्नियां-जिनमें से दो का सिर उन्होंने कटवा दिया था-होने के कारण याद किया जाता है, जिसने एक सांस्कृतिक आदर्श बनने में उनकी सहायता की और उन पर व उनकी पत्नियों पर आधारित अनेक पुस्तकें, फिल्में, नाटक और टेलीविजन श्रृंखलाएं निर्मित हुईं।

प्रारंभिक वर्ष 1491-1509

ग्रीनविच पैलेस में जन्मे हेनरी अष्टम, हेनरी सप्तम व एलिज़ाबेथ ऑफ यॉर्क की तीसरी संतान थे।[4] युवा हेनरी के छः भाई-बहनों में से केवल तीन-आर्थर, प्रिंस ऑफ वेल्स; मार्गारेट; तथा मैरी-ही अपनी शैशवावस्था के बाद जीवित बच सके। सन 1493 में, दो वर्ष की आयु में, हेनरी को कॉन्स्टेबल ऑफ डोवर कैसल तथा लॉर्ड वार्डन ऑफ द सिंक पोर्ट्स (Cinque Ports) नियुक्त किया गया। सन 1494 में, उन्होंने ड्युक ऑफ यॉर्क बनाया गया। क्रमशः वे अर्ल मार्शल ऑफ इंग्लैंड तथा लॉर्ड लेफ्टिनेंट ऑफ आयरलैंड नियुक्त किये गये। हेनरी को श्रेष्ठ शिक्षकों द्वारा उच्च-श्रेणी की शिक्षा प्रदान की गई, तथा वे लैटिन, फ्रेंच व स्पैनिश भाषाओं में पारंगत हो गए।[5] चूंकि यह उम्मीद की जा रही थी कि ताज हेनरी के बड़े भाई प्रिंस आर्थर को मिलेगा, इसलिये हेनरी को चर्च में जीवन बिताने के लिये तैयार किया गया था। जब हेनरी 11 वर्ष के थे, तब उनकी मां एलिज़ाबेथ ऑफ यॉर्क का निधन हो गया। [6]

आर्थर की मृत्यु

1502 में हेनरी सप्तम के कोर्ट चित्रकार, माइकल सीटो द्वारा एक युवा विधवा के रूप में कैथरीन।

सन 1502 में, 15 वर्ष की आयु में, एरागॉन की कैथरीन से विवाह के केवल 20 सप्ताहों बाद ही आर्थर की मृत्यु हो गई। आर्थर की मृत्यु के कारण उनके सारे कर्तव्य अब उनके छोटे भाई, दस-वर्षीय हेनरी, पर आ पड़े, जो कि अब प्रिंस ऑफ वेल्स बने। हेनरी सप्तम ने इंग्लैंड और स्पेन के बीच एक वैवाहिक गठजोड़ को सुनिश्चित करने के अपने प्रयासों का पुनर्नवीनीकरण करते हुए, अपने द्वितीय पुत्र का विवाह प्रिंस आर्थर की विधवा कैथरिन, जो कि ऐरागॉन के राजा फर्डिनैंड द्वितीय तथा कैस्टाइल की रानी इसाबेला प्रथम की जीवित बची संतानों में सबसे छोटी थी, से करने का प्रस्ताव रखा।[4] प्रिंस ऑफ वेल्स द्वारा अपने भाई की विधवा से विवाह करने के लिये, सामान्यतः पोप से अनुमति प्राप्त करना आवश्यक था, ताकि इस वैवाहिक-संबंध की बाधाओं को खारिज किया जा सके क्योंकि बुक ऑफ लेविटिकस में बताया गया है कि "यदि कोई भाई अपने भाई की पत्नी से विवाह करता है, तो वे संतानहीन बने रहेंगे." कैथरीन ने शपथ ली कि प्रिंस आर्थर के साथ विवाह के बाद उनके बीच शारीरिक संबंध स्थापित नहीं हुए थे। फिर भी, अंग्रेज़ और स्पेनी दोनों ही पक्षों में इस विवाह के लिये पोप से एक अतिरिक्त अनुमति प्राप्त करने पर सहमति बनी, ताकि इस विवाह की वैधता से जुड़ी सभी आशंकाओं को दूर किया जा सके।

कैथरीन की मां, रानी इसाबेला प्रथम की अधीरता के कारण, पोप जुलियस द्वितीय पोप के एक आज्ञा-पत्र के रूप में अनुमति देने पर राज़ी हो गए। अतः अपने युवा पति के निधन के 14 माह पश्चात, कैथरिन अपने पति के छोटे भाई, हेनरी, की मंगेतर बनीं। लेकिन, सन 1505 तक, एक स्पेनी गठबंधन बनाने में हेनरी सप्तम की रुचि समाप्त हो गई और युवा हेनरी ने घोषणा कर दी कि उनकी सगाई उनकी सहमति के बिना आयोजित की गई थी।

प्रस्तावित विवाह के भविष्य को लेकर जारी कूटनीतिक दांव सन 1509 में हेनरी की मृत्यु तक रूका रहा। केवल 17 वर्ष के हेनरी ने 11 जून 1509 को कैथरिन से विवाह किया और 24 जून 1509 को वेस्टमिन्स्टर ऐबे में उन दोनों का राज्याभिषेक हुआ।

अन्य भाषाओं
azərbaycanca: VIII Henri
Bikol Central: Hadeng Enrique VIII
беларуская: Генрых VIII
беларуская (тарашкевіца)‎: Генрых VIII
български: Хенри VIII
eesti: Henry VIII
français: Henri VIII
Հայերեն: Հենրի VIII
Bahasa Indonesia: Henry VIII dari Inggris
íslenska: Hinrik 8.
ქართული: ჰენრი VIII
한국어: 헨리 8세
Lëtzebuergesch: Henry VIII. vun England
Lingua Franca Nova: Henry 8
lietuvių: Henrikas VIII
македонски: Хенри VIII
norsk nynorsk: Henrik VIII av England
русский: Генрих VIII
संस्कृतम्: हेनरी ८
srpskohrvatski / српскохрватски: Henry VIII od Engleske
Simple English: Henry VIII of England
slovenčina: Henrich VIII.
slovenščina: Henrik VIII. Angleški
српски / srpski: Хенри VIII Тјудор
Kiswahili: Henry VIII
Türkçe: VIII. Henry
Tiếng Việt: Henry VIII của Anh
吴语: 亨利八世
中文: 亨利八世
Bân-lâm-gú: Henry 8-sè (Eng-lân)
粵語: 亨利八世